blogid : 316 postid : 1370791

अभी और बढ़ सकता है दिल्ली मेट्रो का किराया, अब तक घट चुके हैं इतने लाख यात्री

Posted On: 27 Nov, 2017 Social Issues में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अगर आप भी उन्हीं लोगों में से एक हैं जो दिल्ली मेट्रो से सफर करते है तो आपके लिए एक बुरी खबर है। दरअसल डीएमआरसी एक बार फिर से किराया बढ़ाने के बारे में सोच रहा है। मेट्रो का किराया तय करने के लिए केंद्र द्वारा नियुक्त समिति की सिफारिशों का पालन करते हुए मेट्रो का किराया जनवरी 2019 में एक बार फिर से बढ़ाया जा सकता है। बता दे कि, इसी साल दो बार डीएमआरसी ने मेट्रो का किराया बढ़ाया था जिससे यात्रियों के खासी परेशानी हुई थी। यही नहीं डीएमआरसी ने इस बात को भी माना है कि किराया बढ़ने के बाद से मेट्रो में यात्रियों की संख्या प्रति दिन 3 लाख तक घटी। हालांकि कई लोग इसे किराए से जोड़कर नहीं देख रहे हैं। ऐसे में अगर मेट्रो का किराया बढ़ता है तो आने वाले दिनों में मेट्रो में सफर करने वालों को और भी जेब ढ़ीली करनी पड़ सकती है, साथ ही इसका असर यात्रियों की संख्या पर भी पड़ सकता है।




cover





जनवरी 2019 में बढ़ेगा किराया!

मेट्रो का किराया तय करने के लिए केंद्र द्वारा नियुक्त समिति की सिफारिशों का पालन करते हुए मेट्रो का किराया जनवरी 2019 में एक बार फिर बढ़ाया जा सकता है। न्यायाधीश (सेवानिवृत) एमएल मेहता की अध्यक्षता वाली इसी समिति की सिफारिशों पर मई और अक्टूबर में दो चरणों में किराये में बढ़ोत्तरी की गई थी। न्यायाधीश मेहता दिल्ली के प्रमुख सचिव और बोर्ड पर शहरी विकास मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव भी रह चुके हैं।




ticket





सात फीसदी तक बढ़ेगा किराया

मेट्रो रेलवे अधिनियम के तहत गठित की गई चौथी किराया निर्धारण समिति (एफएफसी) ने अपनी रिपोर्ट में ‘ऑटोमेटिक वार्षिक किराया समीक्षा’ की भी सिफारिश की है जिसके तहत किराया सात फीसदी तक बढ़ेगा। समिति ने सिफारिश की है कि DMRC ऑटोमेटिक किराया समीक्षा फार्मूले के आधार पर साल में एक बार किराए की समीक्षा कर सकती है। यह फॉर्मूला कर्मचारियों, रखरखाव, ऊर्जा के खर्च और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में वृद्धि पर आधारित है।



metro_ticket





दिल्ली के सीएम किराया बढ़ने से नाखुश

समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘यह ऑटोमेटिक किराया समीक्षा एक जनवरी 2019 से लागू होगी और अगली एफएफसी की सिफारिशों तक हर साल ऐसा होता रहेगा। ‘ मेट्रो के किराए में हाल में वृद्धि को लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार के साथ टकराव के दौरान केंद्रीय आवासीय और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दावा किया था कि केंद्र एफएफसी की सिफारिशों से छेड़छाड़ करने की स्थिति में नहीं है क्योंकि ऐसा करना ‘कानून सम्मत’ नहीं है। वहीं, सीएम केजरीवाल ने कहा कि, किराया बढ़ाने का कदम दिल्ली मेट्रो को खत्म कर देगा। अगर लोगों ने इसका इस्तेमाल बंद कर दिया तो इसके रहने का क्या मतलब रह जाएगा।




metro_





इस साल दो बार हुई है किराए में बढ़ोतरी

डीएमआरसी ने अक्टूबर में किराए में बढ़ोतरी की थी, 2 किमी तक के लिए 10 रुपये, 2 से 5 तक के लिए 15 की जगह 20 रुपये, 5 से 12 तक के लिए 20 की जगह 30 रुपये, 12 से 21 तक के लिए 30 की जगह 40 रुपये। 21 से 32 तक के लिए 40 की जगह 50 रुपये और 32 किमी से अधिक के सफर के लिए 50 की जगह 60 रुपये तक किराया बढ़ाया गया है। वहीं, इससे पहले मई 2017 में भी मेट्रो के किराए में बढ़ोतरी की गई थी, जिसमें न्यूनतम किराया 8 की जगह 10 रुपए किया गाया था वहीं, अधिकतम 30 से 50 तक किया गया था।…Next




Read More:

शिंजो आबे और उनकी पत्‍नी ने एयरपोर्ट पर ही बदल लिए थे कपड़े, आपने ध्‍यान दिया क्‍या!

राजकुमारी जो बनीं देश की पहली महिला कैबिनेट मंत्री, एम्‍स की स्‍थापना में थी प्रमुख भूमिका

केजरीवाल ही नहीं इन नेताओं ने भी IIT से की है पढ़ाई, पूर्व रक्षा मंत्री भी हैं इनमें शामिल



Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran