blogid : 316 postid : 1357065

सऊदी अरब में अब ड्राइविंग कर सकती हैं महिलाएं, लेकिन इन चीजों पर कायम है बैन

Posted On: 29 Sep, 2017 Social Issues में

Pratima Jaiswal

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारत में जब कोई महिला गाड़ी चला रही होती है, तो लोग उसका मजाक उड़ाते हुए कहते हैं कि जरा बच के वर्ना हमेशा के लिए टिकट कट जाएगा. बेशक, ये बात मजाक में कही गई हो, लेकिन इससे महिलाओं को लेकर एक नजरिया का पता चलता है. जरा सोचिए, क्या पुरुष बुरी या जानलेवा ड्राईविंग नहीं करते? भारत में ये स्टीरियोटाइप टूटे या ना टूटे लेकिन सऊदी अरब में कुछ दिनों पहले एक ऐसा फैसला हुआ, जिससे सालों पुरानी मान्यता टूट गई है.


saudi


सऊदी शाह सलमान ने आदेश जारी कर महिलाओं पर से ड्राइविंग की पाबंदी हटाने को कहा है. सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक, सऊदी मंत्रालयों को इस मामले में तीस दिन के अंदर रिपोर्ट तैयार करनी है और ये आदेश जून 2018 से लागू होगा. सऊदी अरब में महिलाओं के गाड़ी चालने पर प्रतिबंध पहले चलन के रूप में था, जिसे यहां की सरकार ने 1990 में कानूनी रूप दिया. यहीं से इसका विरोध शुरू हुआ. विरोध से ये कानून तो रद्द हो गया, लेकिन ऐसी कई चीजें हैं, जिसपर महिलाओं के लिए सऊदी अरब में अभी भी बैन है. आइए, डालते हैं एक नजर.

1. सऊदी अरब में महिलाएं बिना पुरूष गार्जियन के बाहर नहीं घूम सकती. उन्हें छोटे-छोटे कामों के लिए भी पुरूषों पर निर्भर रहना पड़ता है.

2. महिलाएं घर से बाहर किसी ऐसे पुरुष से नहीं मिल सकतीं, जो उनके परिवार से नहीं हैं. यहां बाहर जाते समय अक्सर महिलाओं के साथ उनके परिवार के पुरुष साथ होते हैं.

3. घर से बाहर जाते समय महिलाओं का पूरी तरह ढका हुआ होना जरूरी है. यहां बाहर निकलते हुए महिलाओं की केवल आखें बिना ढकी रह सकती हैं.

4. कोई भी शख्स अगर कपड़े खरीदता है तो वो यह ट्राई करेगा ही कि वो कपड़े उसे ठीक आते भी हैं या नहीं लेकिन सऊदी में महिलाओं को यह आजादी भी नहीं है. यहां शॉपिंग के दौरान महिलाएं कपड़े ट्राई नहीं कर सकतीं.

5. सऊदी अरब में लड़कियां बार्बी डॉल से भी नहीं खेल सकती क्योंकि इनके कपड़े गैर इस्लामी बताए गए हैं. ..Next



Read More :

इनकी मौत पर नहीं था कोई रोने वाला,पैसे देकर बुलाई जाती थी रुदाली

नींद के सौदागर करते हैं 30 रुपए और एक कम्बल में इनकी एक रात का सौदा

एक वेश्या की वजह से स्वामी विवेकानंद को मिली नई दिशा



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran