blogid : 316 postid : 1116726

डर के कारण अपनी पढ़ाई लड़का बनकर पूरी की इस लड़की ने

Posted On: 23 Nov, 2015 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

लड़कों के बीच लड़को जैसी पोशाक पहने वो लड़की बेशक कुछ सहमी-सी दिख रही थी लेकिन वो वहां से जाने को तैयार नहीं थी. वो कोई आलीशान स्कूल तो नहीं था लेकिन उसमें वहीं सब पढ़ाया जाता था जो दुनिया के किसी भी स्कूल में पढ़ाया जाता होगा. उसका मकसद सिर्फ उस तालीम को हासिल करना था इसलिए वो लड़की से लड़का बनने को मजबूर हो गई थी.


AFGHANISTAN-EDUCATION


Read : पढ़िए आम से खास बनी एक विकलांग लड़की की कहानी जिसने कभी अपंगता को अपनी कमजोरी नहीं बनाया

उसने बचपन से ही लड़कों की तरह दिखने के लिए बहुत मेहनत की थी. 25 साल की बसीज रसिख नाम की लड़की को अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए लड़कों के बीच उन जैसे ही कपड़े पहनकर और उनकी जैसी भारी आवाज में बोलना सीखने के लिए खासी मेहनत का सामना पड़ा. दरअसल रसिख अफगानिस्तान के तालिबानी शासन वाले क्षेत्र में रहती थी. जब वो 6-7 साल की छोटी बच्ची थी उसके माता-पिता ने बताया तालिबानियों ने लड़कियों को पढ़ाने-लिखाने पर सख्त पाबंदी लगा रखी है. लेकिन अपने आसपास के लड़कों को स्कूल जाते हुए देखकर उनके मन में पढ़ने की तीव्र इच्छा जागती थी. ऐसे में उसे इतनी कम उम्र में एक उपाय सूझा. वो लड़कों के स्कूल में बाल कटवाकर और उनकी तरह कपड़े पहनकर जाने लगी.


Read : पंचायत को नामंजूर है लड़की का यह फैसला, थोपा 16 लाख का जुर्माना


इसी तरह कई साल गुजर जाने के बाद 14 साल की आयु में, वो अफगानिस्तान से भाग गई जिससे की उसकी पढ़ाई जारी रह सके. तालिबान के इस तुगलकी फरमान के बारे में रसिख बताती हैं ‘वो नहीं चाहते कि हम तालीम हासिल करें जबकि हम आधी आबादी में आते हैं. नई पीढ़ी पढ़-लिख कर पुरानी परम्परा को तोड़ता चाहती है. लेकिन ऐसा करना आसान नहीं है पर मैं इसे नामुमकिन भी नहीं मानती.’ रसिख इस परेशानी को झेलने वाली एकलौती लड़की नहीं है. अफगानिस्तान के अधिकांश इलाकों में तालिबान का कब्जा है. उन्होंने कई तुगलकी फरमान जारी किए हैं. जिसमें लड़कियों को नहीं पढ़ाने के लिए सख्त हिदायत दी गई है. इसलिए बचपन से पढ़ने की चाह रखने वाली लड़कियों को विदेशों का रुख करना पड़ता है…Next

Read more :

वायरल हो रही बोर्ड की परीक्षा में नकल की इस तस्वीर के पीछे ये है सच्चाई

बाराती हुए लेट तो हर मिनट 100 रुपये के हिसाब से देना पड़ सकता है जुर्माना!

शादी के बीच में पहुँची दुल्हन की बेटी और रो पड़े मेहमान



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran