blogid : 316 postid : 1105897

बिहार और झारखंड के इन इलाकों में सजता है भूत भगाने का मेला

Posted On: 7 Oct, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

झारखंड के पलामू में भूत मेला बंद कराने पहुंची पुलिस ने आम लोगों पर फायरिंग कर दी जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई. पुलिस फायरिंग में कई लोग घायल भी हो गए हैं. इस झड़प में पांच पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं. गौरतलब है कि झारखंड में कई स्थानों पर नवरात्र के समय भूतों के मेले सजते हैं. पुलिस पलामू के नौडिहा बाजार इलाके में ऐसे ही एक मेले को बंद कराने आई थी.


bhut1


न सिर्फ झारखंड बल्कि बिहार के भी कई ईलाकों में भी भूत भगाने के नाम पर आस्था और अंधविश्वास का यह बाजार सजता है. आज के वैज्ञानिक युग में इस तरह के मेले को एक अंधविश्वास के सिवा और कुछ नहीं कहा जा सकता लेकिन इन इलाकों में भूत भगाने के नाम पर लाखों का व्यापार चलता है. झारखंड के पलामू जिले के हैदरनगर में, बिहार के कैमूर जिले के हरसुब्रह्म स्थान पर और औरंगाबद के महुआधाम स्थान पर भूतों के मेले में सैकड़ों लोग नवरात्र के मौके पर भूत-प्रेत की बाधा से मुक्ति के लिए पहुंचते हैं.


Read: भूत-पिशाचों के हाथ का बना खाना खाया है कभी


आम बोलचाल में लोग इन मेलों को भूत मेला ही कहते हैं. ऐसे तो साल भर इन स्थानों पर श्रद्धालु भूत-प्रेत भगाने आते हैं, लेकिन नवरात्र के मौके पर प्रेतबाधा से मुक्ति के लिए प्रतिदन यहां सैकड़ों की तदाद में लोग पहुंचते हैं. यहां उत्तर प्रदेश, झारखंड, बिहार, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के लोग पहुंचते रहते हैं. पलामू के हैदरनगर में सालाना भूत मेला लगता है. यह मेला यहां स्थित देवी मां के मंदिर के 2 किमी परिधि में लगता है.


ghosts


इस मेले में शामिल होने वाले ओझाओं का दावा है कि वे लोगों के शरीर से भूत को उतारकर कुछ दूरी पर स्थित पीपल के पेड़ में कील के सहारे बांध देते हैं. ओझा महिलाओं के बाल पकड़कर उनके शरीर से भूत भगाने का उपक्रम करते देखे जा सकते हैं. कई महिलाएं झूम रही होती हैं तो कई इधर उधर भाग रही होती हैं. ओझा इन्हें पकड़-पकडकर बिठाते हैं.. Next…


Read more:

बेटे की जान बचाने के एवज में चुड़ैलों ने उसे मौत दे दी…..काले जादू की हकीकत से पर्दा उठाती एक कहानी

मर कर भी जिंदा कर देती है ये खास तकनीक, जानिये क्या है ये अद्भुत वैज्ञानिक खोज

क्या अंधविश्वास की भेंट चढ़ जाएगा यह छ: पैरों वाला बच्चा !!



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran