blogid : 316 postid : 910525

8 महीने लगातार हुआ बलात्कार, अब पवित्रता के लिए देनी पड़ रही है ये परीक्षा

Posted On: 18 Jun, 2015 Others,social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पिछले साल तक यह शर्मिली 23 वर्षीय युवती सूरत में अपने पति और दो बच्चों के साथ हंसी-खुशी जीवन बिता रही थी. उसे नहीं पता था कि कुछ ही दिन में उसकी जिंदगी में भूचाल आने वाला है. जुलाई 2014 में पांच व्यक्तियों द्वारा उसका अपहरण कर लिया गया और 8 महीने तक अलग-अलग जगहों पर ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया गया.


image56

लेकिन इससे भी बुरा उसके साथ तब हुआ जब वह बलात्कारियों के चुंगल से भागकर घर लौटी. उसके ससुराल वालों ने उसे अपनाने से इंकार कर दिया. इस साल जब 16 मार्च को उसने बोटाद जिले के रनपुर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराया तो वह 24 हफ्तों की गर्भवती थी.


Read: बेटे की जान बचाने के एवज में चुड़ैलों ने उसे मौत दे दी…..काले जादू की हकीकत से पर्दा उठाती एक कहानी


उसने कोर्ट में गर्भपात कराने के लिए अर्जी डाली जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया. अदालत ने उससे कहा कि, “तुम बहादुरी से आगे बढ़ो और जब समय आए तो अपने गर्भ में पल रहे शिशु को जन्म दो”.


वर्तमान में वह अपने मां-बाप के साथ देवालिया गांव में रह रही है. उसके पति और बच्चे भी उसके साथ ही हैं. उसके पति ने भी अपने घरवालों द्वारा अपने पत्नी को न अपनाए जाने पर अपना घर छोड़ दिया है. लेकिन इस युवती के लिए खौफ के दिन अभी खत्म नहीं हुए हैं.


tantrik


इस युवती को अभी अपने परिवार के लिए ‘चोखा थावनी विधि’ से गुजरना होगा. यह एक कर्मकांड है जिससे गुजरकर स्त्री को अपनी पवित्रता की परीक्षा देनी होती है. यह कर्मकांड किसी तांत्रिक द्वारा संपन्न करवाई जाती है जो काले जादू की मदद से स्त्री की पवित्रता की परीक्षा लेता है.


इस कर्मकांड के तहत तांत्रिक लड़की से कुछ सवाल पूछता है और यह जांचने के लिए कि लड़की सच बोल रही है या नहीं, वह अपने मुट्ठी में जौ के बीज भरकर लड़की से पूछता है कि उनकी संख्या सम है या विसम. अगर लड़की का उत्तर गलत होता है तो तांत्रिक यह अनुमान लगाता है कि वह झूठ बोल रही है.


Read: ऐसी जगह जहां सिर्फ काला जादू है पर…..


इस विधि को फिर लड़की के सर पर 10 किलो बजन का पत्थर रखकर दुहराया जाता है. उसे अपने सर पर तबतक पत्थर रखे रहना पड़ता है जबतक तांत्रिक को यह यकीन न हो जाए की वह सच बोल रही है. कभी-कभी इस कर्मकांड को पूरा करने में महीनों लग जाते हैं. देवीपूजक समाज जिससे पीड़िता ताल्लुक रखती है, यह परीक्षा उस औरत को देना पड़ता है जिसे अपवित्र मानकर परिवार द्वारा परित्यक्त कर दिया जाता है.


हालांकि पीड़िता के पति का कहना है कि चाहे इस परीक्षा का नतीजा जो भी हो, वह अपनी पत्नी को नहीं छोड़ेगा. Next…


Read more:

काले जादू के साये में बीती वो खौफनाक रात

बलात्कार पर यूपी पुलिस की शर्मनाक कारस्तानी

वीडियो में देखिए, जब बदल गया बलात्कार की चाह रखने वाला इंसान



Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran