blogid : 316 postid : 876679

शरीर से लकवाग्रस्त और जीता तीन बार मिस्टर इंडिया का खिताब

Posted On: 27 Apr, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जब वह किशोर मात्र 13 साल का था उसकी जिंदगी का सबसे बड़ा सपना था एक चैंपियन बॉडीबिल्डर बनना. इस छोटी सी उम्र में ही बॉडीबिल्डिंग में अपना पहला खिताब जीतकर यह जता दिया था कि वह अपने इस सपने को लेकर कितना संजीदा है. लेकिन इस किशोर के लिए उसके सपनों के मंजिल का रास्ता इतना आसान नहीं रहा. वह 15 साल का ही हुआ था कि कैंसर के कारण उसका पूरा शरीर लकवाग्रस्त हो गया. अगले तीन साल तक वह अपने बिस्तर पर से उठ भी नहीं पाया. आज वह किशोर 28 साल का है और उसके शरीर का निचला हिस्सा काम नहीं करता पर दुनिया उसके इस अक्षमता के कारण नहीं बल्कि एक ऐसे बॉडीबिल्डर के रुप में जानती है जो 3 बार मिस्टर इंडिया और 12 दफा मिस्टर पंजाब के खिताब से नवाजा जा चुका है.


bodybuildin


मिलिए पंजाब के आनंद अर्नोल्ड से. 28 साल का यह नवजवान तमाम बाधाओं को धता बताते हुए आज उस मुकाम पर है जहां वह पहुंचना चाहता था. और अब उसकी जिंदगी का सबसे बड़ा सपना है अपनी संघर्ष और रोमांच से भरपूर जिंदगी पर एक फिल्म बनाना. आनंद के अनुसार, “मेरा सबसे बड़ा सपना है अपनी जिंदगी पर आधारित एक फिल्म बनाना. मुझे विश्वास है कि यह फिल्म लोगों को जिंदगी में नई ऊंचाईयां छुने के लिए प्रेरित करेगी. यह फिल्म मुझ जैसे लोगों के लिए आशा की नई किरण बन सकती है.” वाकई आनंद की अविश्वसनीय उपलब्धियों वाली जिंदगी किसी फिल्म की दमदार कहानी बन सकती है.


Read: शरीर से विकलांग लेकिन हौसले की दास्तां सुन आप रह जाएंगे स्तब्ध


आनंद बताते हैं कि जब वे 15 साल के थे तो उन्हें अपने रिढ़ की हड्डी के नीचले हिस्से में कैंसर का पता चला. उन्हें तुरंत ऑपरेशन के लिए ले जाया गया पर ऑपरेशन के बाद वे लकवा के शिकार हो गए और अगले 3 साल तक अपने बिस्तर से हिल भी न सके. “मेरी जिंदगी के वे 3 साल नरक के समान थे. मेरा सीना लकवाग्रस्त हो गया था और मैं अपने हाथ के अलावा अपने शरीर का कोई भी अंग हिला-डुला नहीं पा रहा था.”


anand



आनंद के परिवारजन और उनके मित्र पहले तो आशंकित थे कि वह फिर से बॉडीबिल्डिंग कर पाएगा या नहीं लेकिन उन्होंने आनंद के हर फैसले में उसका सहयोग दिया. जल्द ही अपनी मेहनत के बूते आनंद फिर से इस क्षेत्र में प्रतियोगिताएं जितने लगा. जल्द ही उसके परिवारजनों को यकीन हो गया कि उनका आनंद किसी दूसरे मिट्टी का बना हुआ है. मसल मेनिया का चेहरा और एक न्यूट्रिएंट सप्लीमेंट कंपनी का ब्रांड एंबेसडर, 27 अन्य उपाधियों के अलावा 3 बार मिस्टर इंडिया और 12 बार मिस्टर पंजाब का खिताब जीत चुके हैं आनंद. Next…


Read more:

48 सर्जरियां लेकिन हौसला अभी भी है बुलंद…

सामूहिक बलात्कार और 14 जानलेवा हमले भी उसकी हिम्मत को नहीं तोड़ सके…

अभिनय ने नहीं निर्देशन ने दिया वो मुकाम



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran