blogid : 316 postid : 764501

लखनऊ गैंगरेप: वहशीपन की ऐसी तस्वीरें देख शर्म से झुक जाएगी आपकी भी आंखे

Posted On: 19 Jul, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र में एक महिला के साथ हुए कथित सामूहिक बलात्कार और बर्बर हत्या… और तो कुछ नहीं राजनीतिक पार्टियों के सामने सत्ता पक्ष को घेरने के लिए ज्वलंत मुद्दा, मीडिया के लिए 24 घंटे चलने वाली एक बड़ी खबर तथा राज्य प्रशासन और पुलिस के लिए एक सिरदर्दी भरा केस जरूर दे दिया है. यहां उन महिला संगठनों को भी शामिल किया जाना चाहिए जो इस तरह के मुद्दे सामने आने के बाद अपने होने का आभास सबको कराती हैं.


4


दरअसल सालों से समाज के दानव निर्भयाओं को अपनी हैवानियत का शिकार बनाते आ रहे हैं तब समाज के यही रहनुमा लोगों को झूठी दिलासा देने के लिए अपनी सक्रियता का प्रदर्शन करते हैं. कोई कड़े कानून बनाने की मांग करता है तो कोई बनाए हुए कानूनों में संशोधन की. यहीं नहीं विभिन्न मंचों पर एक बहस छिड़ जाती है कि आखिर कैसे समाज के डीएनए में समा चुकी निर्ममता को दूर किया जाए? कैसे समाज के अंदर महिलाओं के लिए सम्मान और आदर का भाव पैदा किया जाए?


Read: एमएच-17 हादसे से ठीक पहले मलेशियाई विमान के अंदर का वीडियो


1


गौरतलब है कि लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र के बलसिंह खेड़ा में एक युवती दरिंदगी का शिकार हुई. दरिंदों ने पहले तो उसके साथ गैंगरेप किया फिर उसे नग्न अवस्था में तड़प-तड़पकर मरने के लिए छोड़ दिया. जिस जगह महिला के साथ यह घटना घटी उसके आसपास खून के ढेरों निशान थे. स्कूल परिसर में लगे नल, झाड़ियों, चबूतरे तक पर हर तरफ खून ही खून बिखरा था. हर जगह युवती के कपड़ों के चीथड़े पड़े हुए थे. 80 मीटर तक बहे खून के निशान और नग्न अवस्था में एक तरफ गिरा शव देखकर पुलिस, स्थानीय लोग सभी अवाक थे. पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद बताया कि युवती के प्राइवेट पार्ट से बेतहाशा खून बहा जिससे उसकी मौत हो गई.


2


Read: एक असहाय पिता की गुहार इंटरनेट भी अनसुना नहीं कर पाया


यह घटना ठीक वैसी है जब दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात चलती बस में दरिंदों ने पैरा-मेडिकल स्टूडेंट को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया था. हादसे के कुछ दिनों बाद अस्पताल में युवती की मौत हो गई थी लेकिन अपने पीछे वह एक आंदोलन छेड़ गई जिसके सहारे लाखों लोगों ने बलात्कारियों के लिए सख्त कानून की मांग की. सरकार ने देश की आवाज को सुनते हुए कई नए और सख्त कानून भी बनाए पर ऐसा लगता है कि ये कानून भी वहशियाना हरकत करने वाले लोगों पर कोई असर नहीं छोड़ पाए हैं.


5 (3)


कब तक हम बैठेंगे चुप

अब सवाल उठता है कि आखिर कैसे महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाए!!! यह नया मामला न तो महिलाओं के पहनावे से जुड़ा है और न ही उनके स्वतंत्र विचारों से, बल्कि यह ऐसी माहिला से जुड़ा है जो पति की मृत्यु के बाद एक अस्पताल में नौकरी कर अपने दोनों बच्चों का पालन-पोषण कर रही थी.


Read more

80 साल की एक बुजुर्ग महिला ने डांस मंच पर कुछ ऐसा किया कि देखने वालों के होश उड़ गए


Web Title : lucknow gang rape and brutal murder picture



Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 2.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

48 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ansari ruqayya के द्वारा
December 10, 2015

better punishment for rapist,,put them in prison fore whole life,its better way to teach a better lesson to all rapists.and give all them to treatment everyday as they done with a girl child.and by goverment they should not leave from prison by nonsence evidence .

amit kumarsingh के द्वारा
August 3, 2014

ियस ओके सरकार और कानून अप्पन काम कराएगा

amit kumarsingh के द्वारा
August 3, 2014

जब लडकिया कम कपडी पहनती है तो सब लोग सोते रहती है सरकार अपनाना कम कर रही है ब्लॉक फेसबुक एंड यू तुबे इन इंडिया रपे तो दरपदी का भी हुआ था लसकिया का तो रपे होना ही छैया कम कपड़े पहनती है तब क्या मर जाती है आच हुआ मर गई

sonu sharma के द्वारा
July 26, 2014

Kya ye midiya wale rape kishikar us ladki ki photo kya chadarudakar nahi khich sakte thelekin inko bhi mja aata he garma garam news milti he in midiya walose ye pucha jaye ki yahi dard tumhare kisi apneKe sath ho to kya aap bha par photo khich skate ho apnedeshko badnamtojyada ye midiyakarti h

sonu sharma के द्वारा
July 26, 2014

In rape karne walo ko fansi nahi inko chorahe par khada kar chaku se inke jismme ched karkenamak mirch dal dene chahiye inko tadpa tadpa Ke marnachahiye

sunil के द्वारा
July 25, 2014

अपराधो की सजा के मामलो मे हमें इतिहास से सबक लेना चाहिए जिसमे सरेआम जनता के सामने सर कलम किया जाता था. जिससे तुरत अपराधी को सजा मिलती थी. पर नये युग मे गांधीवाद और मानवधिकार की आड़ मे सब दब गया है.

ashutosh mishra के द्वारा
July 25, 2014

Kanoon HINJDA hai, phansi do

pawan kumar के द्वारा
July 22, 2014

asal me up ki pulice bikau hai. sabko pata hai kis ka kya rate hai. koi darr nahi hai crimanls ko police ka. mein punjab mein rehta hoon . police ka itna khoff hai ki rape to door ladki ko koi tuch bhi nahi kar sakta koi.

Manoj के द्वारा
July 22, 2014

जागरण जंक्शन से जुड़े हुए मुझे लगभग चार साल हो गए हैं लेकिन असंवेदनशीलता की ऐसी तस्वीर संपादकीय मंच प्रस्तुत हो यह मैंने नहीं सोचा था.. 16 दिसंबर जैसी मार्मिक घटना को भी इस मंच ने बेहद संवेदनशील तरीके से प्रस्तुत किया था. संवेदनशीलता और बाजार के प्रति नहीं बल्कि समाज के प्रति सोच रखने की वजह से ही जागरण जंक्शन मंच को यह स्थान मिला है.. हो सकता है इन तस्वीरों से आवाम की आंखो में दया ना आए लेकिन मन दुखी अवश्य होगा.. अगर मन दुखी करने के लिए यह तस्वीरें लगाई गई है तो कोई बात नहीं और यहां एक तस्वीर से भी काम चल सकता था…

SADGURUJI के द्वारा
July 21, 2014

पीड़ित महिला की नग्न तस्वीर दिखाना उचित नहीं है ! ऐसी फोटो खींचने वालों और उसे प्रकाशित करने वालों के खिलाफ कार्यवाही हो ! ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें और अपराधी को कठोरतम दंड मिले !

Shobha के द्वारा
July 21, 2014

बहूत ही कष्ट दायक हादसा अपराधी को जनता के सामने छोड़ देना चाहिए नर पशु को वह सजा दे शोभा

Avnish kumar के द्वारा
July 21, 2014

In rape karne walo se itna hi request karunga…ki kabhi galti se mere aas – pass na dikh jaye….ni aisi maut marunga ki apne paida hone par bhi taras aaye ga……..un saalo ke body ko 2 part mai cheer dena chahiye……?….ya fir unko raassi se baandh ke body mai 2-4 jagah kaat do…jaha se continue blood nikalta rahe……apne aap pata chal jaye ga…dard kise kahte hai…..:(

Sourabh के द्वारा
July 21, 2014

Shame on this incident and I am shocked because a Reputed News network like Jagran Showing these images and featuring Google ads on this page. Animals are really a better race than humans in all manners…

Surya के द्वारा
July 20, 2014

Jo jo rape keya hai uske gand me rod heat kar ke ghuser dena chaheyen taki usko pta chle ke dard kya hota hai aur uske guptang ko kaat kar mirch powder dal dena chaheye.

सुरज घर्ती मगर के द्वारा
July 20, 2014

जब तक प्रशा बिकाउ है तब तक कुछ नहि होगा 

Shaheen Khan के द्वारा
July 20, 2014

Please do something for us… we need protection

Raj के द्वारा
July 20, 2014

aise bando ko aag se jala kar maar dena chahiye kutte aulaad

vabhav singh के द्वारा
July 20, 2014

ase logo ko to jenda jla dena chey koi kanoon nhi koi sunvai nhi fasla on the spot

MD SHAHNAWAZ के द्वारा
July 20, 2014

ऐसे लोगो(दरिंदों) को बीच चौराहे पर खड़ा कर के गोली मारदेनी चाहिए ताकि लोग इस अंजाम को देख कर आइन्दा निर्भया कांड दुहराने की हिम्मत न जुटा सके या इस्लमी कानून लागु करो यह सब खतम हो जायेगा या ऐसे लोगो(दरिंदों) के लिंग को काट कर छोड़ देना चाहिए तभी जाकर लोगो के दिलों में डर पैदा होगा

deepak pande के द्वारा
July 20, 2014

वो नग्न तस्वीर देख आत्मा को हिला कर रख दिया और लिखने को मजबूर कर दिया समझ नहीं आता पत्रकार को वो नग्न तस्वीर दिखानी जरूरी थी क्या समाज इतना गिर चूका है की मरने के बाद भी उस नारी पर एक चादर dalkar फोटो लेना मुनासिब न समझा चलो वो तो दरिंदे थे पर वो फोटो खींचनेवाले सब पुरुषप्रधान समाज कोई संवेदना ही नहीं काम se काम उस मृत नग्न शरीर के साथ

saga के द्वारा
July 20, 2014

bhai hme aage aana hoga …….fir se English sashan aa chuka h ……..naam bdl gye h bus………ye politician saale av baap to kb beta……lo bnao neta

Ravi के द्वारा
July 20, 2014

पुत्र प्रदेश अर्थआत यूपी के महान नेताओ से केवल इतना कहना चाहता हुं l की इतना घोर पाप आपके राज मे होने बावजूद यदि आप स्वेदन्सील नही तो सत्य यह है के आप आत्मा से म्रत है l और याद रखना यदि कान्ग्रस को सबक सिखाया जा सकता है तो तुम जायदा बडे तुरंम खां नही होl भारत का एक युवा नागरिक व मतदाता l :@

kshtrapal singh के द्वारा
July 20, 2014

rape krne vale in salo ka encounter kr dena chahiye. .. agr mera bs chlta to mai in salo ka encounter kr deta

jitendra के द्वारा
July 19, 2014

Fasi pr latka do in kutto ko

Pawan के द्वारा
July 19, 2014

Ab aap log hi batao kiska pariwar surkchit hi is tarah ka karm karnaiwalo ko chaurahai par goli mardeni chahiyai…

Sameer Gupta के द्वारा
July 19, 2014

kya hoga yaha post karne se ya iss baat par kuch bolne se….sirf ek behas ka mudda ban chuka hai,,,,,thode bhot samay tak neta mooh chalate rahenge,,,,,,bas phir news channels par pehle mahine mai kai bar phir 6 mahine mai 4 baar phir saal mai do baar aur akhiri mai lucknow ke aur puri india ke log ek saal ki barsi banakar usko NIRBHAYA PART II ka naam de denge. koi matlab nahi hai yahan baat karne ka…..mahilayo ka iss desh mai bhagwan bhi malik nahi hai…..unko jeena hai toh khud ki himmat par hi jeena padega….sorry mujhe pata hai bhot log mere baat pasand nahi karenge……but itz really true…..just think ?????

shubham के द्वारा
July 19, 2014

mein to only ye kehna chahuga ki sirf or sirf desh mein education free kr deni chahiye or only 2 children allow hone chahiye or jo bi rape kre unke private part ko kaat dena chahiye

Wasudeo Thavkar के द्वारा
July 19, 2014

is desh ka kuch nahi ho sakta sirf aur sirf roti sakne ke siva, kyo ki hinustan ke nagriko ka khoon jam gaya hai aur sabse badi baat to ye hai ki is desh me insaan ka jamir bik gaya jo samaj ke liye kuch kar sake !!

neelam verma के द्वारा
July 19, 2014

jisne v ye sarmnak harkat ki hai use jinda jala dena chahiye taki dard kya hota hai use mahsus ho tadap kya hoti hai kis tarah o puri rat apne aap ko bachane me lgi hogi kitni chikhi chilai hogi pr kisi ne uski awaz nhi sunu yaha tak bhagwan v nhi sune bilkul aisi hi saza un darindo ko v milni chahiye meri kanun se request hai plzzz unhe kad sei kadi saza di jaye….!!!!

Ranjeet Singh के द्वारा
July 19, 2014

चलो उनको तो सजा दे दोगे आज नही तो कल पर क्या कोई ये नही चाहता की इन घटनाओ के पीछे कौन कौन सी वजह हे वजह खत्म करो सब कुछ ठीक हो जायेगा अगर आपको कोई वजह मिलती हे तो उनको सुधारो अगर नही हे तो फिर मुझसे भी पूछना बता दूंगा हर वो वजह जिसके कारन ये सब होता रहता हे ……………

Ranjeet Singh के द्वारा
July 19, 2014

Sabse Pehle to unko pucho jo waha pr photo le rahe h ye koui mnoranjan chal raha h ki uski yaad rakhna chahte h ya fir oro ko dikhana chahte h…………….kya h ye sb media wale bnna chahte h usko srm nhi aati ki wo kya kr rhe h Aap hi bato kya ye sahi h jo wahan pr moujud h jo photo le rahe h …….. ya firm kuch or………………Rply it After then next question

BUNTY KUMAR JAYANT के द्वारा
July 19, 2014

aisa karne walo ko aise saja milne caahiye.. jise sunkar koi or aise ghatna ko dohra na kar sake.

rani के द्वारा
July 19, 2014

jo aisa karta h uska main chiz kat diya jaye sala sarkar v kuch nh karta plz hmlog ka manana h ki usko ekdam yhi kiya jaye nh to apne beti ke sth v aise hi ho sakta h ya kisi ke biwi ke sth ho sakta h chahe wo pmki biwi ho ya president ki…….

virat malik के द्वारा
July 19, 2014

mujrim ko fasi do or or aise mout maro ki koi rape krne ki soche bhi na ab kha he modi ji ye ache din h kya kuch kro

Rinki Kumari के द्वारा
July 19, 2014

NOT Fansi is enough aisa koi jite huye mout mange..

RajKumar के द्वारा
July 19, 2014

ऐसा कुकर्म करने वाले लोगों को तो सीधा फांसी देना चाहिए और अदालत द्वारा अपने बचाव में कोई समय भी निर्धारित नहीं करना चाहिए़़  सरकार को फांसी के पक्ष में आनाचाहिये न कि ऐसे अपराध होने पर बेतुके बयान देना चाहिए. आज जी न्यूज़ में दिखाया गया कि जब पत्रकार हमारे महामहीम राज्यपाल से इस मुद्दे इज बात करते है तो वे कहते हैं की बिरयानी और कबाब बहुत अच्छा था. उनकी बातों से ऐसा मालूम होता है जैसे उन्हें खाने के अलावा और कुछ सूझता ही नहीं है. हे भगवन क्या होगा इस उत्तर प्रदेश का. इसका तो भगवन ही मालिक है. 

DILEEP KEWALI के द्वारा
July 19, 2014

Esme sochana kya hai. phasi do salo ko o bhi sareaam .

n.patel के द्वारा
July 19, 2014

Hang up untill to death they r no able to mercy

AJEET के द्वारा
July 19, 2014

Only Fashi, aise logo ko bakshna nahi chahiye!!!!

ameen rana के द्वारा
July 19, 2014

esa karne walo ko gauo ke bich ped par tang kar fansi dede ni chaiye our jo unhe bachae use bhi

beerbahadur के द्वारा
July 19, 2014

just fansi ho jani chahiye

Gaurav Soni के द्वारा
July 19, 2014

Koi kuch nahi karega pehle wale apradhiyo kobhi saja nahi mili to inko kya milegi…

uttam chauhan के द्वारा
July 19, 2014

Hang them till deth. They r monster nt human fuck up such people as bad as possible..

Atul के द्वारा
July 19, 2014

उन सभी लोगो को फाशी होनी चाहिय जिनहोने इतनी घिनोनी हरकत की है उत्तर प्रदेश की पुलिस को भसड भाजी की जगह एक्शन लेने की जररुअत है .

Soni के द्वारा
July 19, 2014

Plz in logo ko to turant fasi de do ab hm log kis cheej ka wait kr rhe h aise to koi safe hi ni hai.Itni haivaniyat koi kaise dikha skta h.y normal log to ho hi ni skte h


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran