blogid : 316 postid : 738941

तीस मिनट का बच्चा सेक्स की राह में रोड़ा था इसलिए मार डाला, एक जल्लाद मां की हैवानियत भरी कहानी

Posted On: 7 May, 2014 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मां को स्वार्थ से परे, त्याग की मूर्ति, ममतामयी धरा माना गया है. जो अपनी जान पर खेलकर 9 महीने तक अपने बच्चे को अपने गर्भ में पालकर उसे हाड़-मांस के शरीर के साथ सांसें तो देती ही है सिर्फ वही मां नहीं है लेकिन सांसें देकर दुनिया में आने के बाद भी एक बच्चे को अपनी ममता की छांव में वह दुनिया में जी सकने लायक बनाती है. मां वह होती है जो शायद अपने लिए न लड़े लेकिन अपने बच्चे के लिए अपनी जान देकर भी लड़ लेती है, मां वह है जो शायद खुद बुरे से बुरे हालात में होकर भी उफ तक नहीं करती और सहनशील औरत कहलाती है पर अपने बच्चे के एक जरा से विपरीत हालात को सहन नहीं कर पाती और अधीर कहलाती है. एक औरत और एक मां एक ही जिस्म, एक ही जान हैं फिर भी दोनों ही रूपों में अलग-अलग हैं. कहते हैं एक औरत कमजोर हो सकती है लेकिन एक मां नहीं. दुनिया के हर समाज में कमोवेश मां का यही सहृदय, कोमल और भावविह्ल कर देने वाला रूप है.


Lady killed her own baby boy


Read More: एक बच्चे का इमोशनल खत


चाहे वह मदर्स डे मनाकर हो या मां को ‘देवी’ का रूप कहना, हर तरह भावना बस एक ही होती है मां की नि:स्वार्थ महानता के लिए उसे ‘थैंक यू’ कहना. पर कलयुग है. श्री कृष्ण ने गीता में कहा था कि ‘कलयुग में इंसान इंसान को खाएगा’. आज के हालात देखते हुए आप इस पर यकीन कर सकते हैं पर कलयुगी मां की हैवानियत की हद का आप अंदाजा आप नहीं लगा सकते, शायद इसे जानकर यकीन भी न आए.


young lady killed her new born baby


जर्मनी में एक मां ने अपने नए जन्में बच्चे को सिर्फ इसलिए मार डाला ताकि उसकी सेक्स लाइफ में अड़चन न आए. 20 साल की नैडिन कोएनिग की अभी शादी नहीं हुई. वह प्रेगनेंट थी लेकिन अपने पैरेंट्स से उसने यह बात छुपाकर रखी और बच्चे को जन्म भी दिया. यहां तो फिर भी ठीक था लेकिन इसके बाद उसने वह किया जो एक मां शायद कभी नहीं कर सकती. 30 मिनट पहले जन्में बच्चे का गला चाकू से रेतकर उसने उसे मार डाला. बच्चे की डेड बॉडी उसने किसी नाले में फेंक दी और दोस्तों के साथ मस्ती करने डिस्को चली गई.


Read More: दुश्मने-जां को अपनी जां बना बैठे


killer mother Nadine Koenig



यह खबर जब फैली, नैडिन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पूरी बात जानने के बाद नैडिन की मां ने आत्महत्या कर ली. पर पुलिस को बच्चे को मारने का जो कारण पता चला इससे भी ज्यादा चौंकाने खौफनाक सच है. नैडिन के लिए बच्चा कुंआरी मां बनने के लिए समाज में तानों का कारण नहीं था या उसे मां-बाप की डांट का डर नहीं था बल्कि उसे डर था कि इस बच्चे के बाद उसकी सेक्स लाइफ खराब हो जाएगी. सिंगल मदर बनकर नैडिन अपनी सेक्स लाइफ खराब नहीं करना चाहती थी इसलिए उस नवजन्मे बच्चे को गला काटकर मार डाला.


Cruel Mother

Read More: एक हत्यारिन की किस्मत लिखी मौत के फरिश्ते ने, चौंकिए मत! यह एक हकीकत है


आप शायद इसे पढ़कर शॉक में आ जाएं लेकिन यह सच है. मां के ममतामयी रूप का ऐसा वहशी और राक्षसी रूप की कोई भी कल्पना नहीं कर सकता. कहते हैं मां बनने के बाद एक औरत का अलग ही रूप दिखता है. आधुनिक औरतों में भी मां का यह रूप बदला नहीं है. कई ऐसी औरतें आपने देखी होंगी जो पहले शायद मां न बनना चाहती होंगी लेकिन गर्भवती होने के बाद उनका बच्चा उनकी सबसे कमजोरी होता है. बिंदास, आजाद, मस्त जीने की राह में मां का यह रूप मिटने लगा है इस एक उदाहरण के आधार पर ऐसा तो नहीं कहा जा सकता लेकिन हां, इस एक घटना ने दुनिया की हर की मां की छवि पर सवालिया निशान लगा दिया है. एक सवाल यह भी खड़ा होता है कि 20 साल की छोटी उम्र में खुलेपन के नाम पर सेक्स की भूख मिटाने वाली ऐसी लड़कियां क्या अपनी नैसर्गिक मातृत्व की भावना खो रही हैं? अगर ऐसा है तो पूरी दुनिया के लिए यह एक खतरे की घंटी है.


Read More:

लड़की औरत कब बने?

केवल अहं की तुष्टि के लिए यह अमानवीयता क्यों?

यूरोप और अमेरिका की नामचीन हस्तियां भी उसके हुस्न का शिकार बन गईं, सेक्स स्कैंडल्स का जाल बिछाने वाली पूर्व मिस इंडिया की मिस्टीरियस स्टोरी

Web Title : young mother killed her newborn baby by cutting his throat using knife



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 2.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

krishna kumar के द्वारा
November 30, 2014

भगवान सै भि बडा दरजा माँ को  दिया जाता है भगवान सुख और दुख दोनो देते है  माँ सिरफ  सुख देती है इस लिये भगवान सै भि बडा दरजा माँ को  दिया जाता है

anuja के द्वारा
July 1, 2014

You guys need a proof reader. Unnecessary words are used. In Hindi article the writer has used period instead of ‘poornviram’.

i.k salvi के द्वारा
May 8, 2014

Kya honga bhai esa desh ka jo maa esa kukarm karsakti h. I very very bad fill..!


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran